Skip to content

What is SEO in hindi? & How seo works? in 2022

What is SEO in hindi

SEO क्या है? SEO कैसे काम करता है। What is SEO in hindi आखिर SEO किसी वेबसाइट या फिर ब्लॉग के लिए किस तरह से काम करता है।

आखिर SEO का किसी ब्लॉग या फिर website को google में पहले पेज पर दिखाने या फिर रैंक करने में क्या Role होता है।

इस Post में हम SEO के बारे में What is SEO in hindi? इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे तो इस Blog Post को पढ़ते रहिये।

What is SEO in hindi इसकी जानकारी के बिना कोई अपने ब्लॉग post को Organic traffic नहीं दिला सकता सकता है।

SEO किसी छोटे टॉपिक की तरह नहीं है बल्कि यह एक बड़ा ही लम्बा टॉपिक है जिसको पूरी तरह से समझने में आपको अपना पर्याप्त समय देना ही होगा। What is SEO in hindi SEO किसी भी blog या फिर website की जान है। इसके पीछे एक ठोस कारण है।

SEO ठीक वैसे ही काम करता है जैसे किसी भी दुकानदार की उस Market में “पहचान” जहाँ उसकी दूकान है या जहाँ से उसे ग्राहक मिलते है।

अगर बिलकुल ही आसान भाषा में समझा जाये तो किसी Business -holders के सम्बन्ध में हम कह सकते है की SEO उसी Connection या फिर आपसी व्यवहार का दूसरा नाम है जिसके बदौलत उस दुकानदार को उसके ग्राहक मिल पाते है।

आपके Google पर कुछ भी search किये जाने पर Google आपको वह जानकारी तुरंत दे देता है यह जानकारी किसी न किसी blog या फिर Website से ही आती है।

और कौन से websites या फिर Blogs के content को Google में सबसे ऊपर दिखाना है यह भी Google ही तय करता है और इसके लिए जो विधि अपनाई जाती है उसे ही हम SEO कहते है।

अगर बिलकुल आसान भाषा में कहा जाये तो SEO, किसी भी Blog या फिर website की जान है क्योंकि आप कितने भी बेहतर article लिख लें लेकिन जब तक वह अधिक से अधिक user तक नहीं पहुंचेगा तब तक आपका Blog famous नहीं होगा और बिना visitors के तो Income की कोई संभावना ही नहीं होती है।

अगर किसी website या फिर Blog का SEO एक बेहतर तरीके और अच्छे ढंग से किया गया है तो निश्चय ही उसे Blog पर automatic Traffic आएगा।

क्योंकि Social sites से आया traffic कुछ दिनों के लिए ही होता है जब तक की कोई आपके Blog पर किसी keyword को ढूंढता हुआ आ जाये। तब कहा जायेगा की आपका Blog इस keyword पर रैंक भी हुआ है और visitors भी आ रहे है।

SEO एक one-time Process नहीं होता बल्कि ये समय के साथ बदलता रहता है। SEO का सम्बन्ध user के choice पर निर्भर करता है की user क्या खोजता है। कुछ Businesses इसके लिए SEO Agency भी hire करते है।

किसी भी एक समय में कोई यूजर अलग अलग सामान की कीवर्ड को खोजते है इसलिए SEO किसी निश्चित टाइम तक है काम करता है। SEO एक समय के बाद फिर से करना पड़ता है। इसलिए या Ongoing Process है।

किसी भी Online Business के लिए SEO ही सबकुछ होता है क्योकि website सेटअप होने के बाद उस business को एक अच्छी संख्या में ग्राहक चाहिए और ये काम सिर्फ और सिर्फ एक बेहतर SEO Agency ही कर सकती है।

इन्हे भी जाने

What is SEO in hindi?

SEO एक technical Term है जो की website या फिर Blog को google में पहले page पर सबसे ऊपर दिखाए जाने में सहायता करता है।

SEO Full form

SEO का मतलब है Search Engine Optimization मतलब की किसी webpage या फिर Blog के page को Search Engine के लिए इस ढंग से तैयार करना की जब कोई user Internet (Google) पर उसी keyword को खोजे तो वही blog सबसे ऊपर आये।

What is SEO in hindi
What is SEO in hindi

अगर SEO को और भी आसान भाषा में समझा जाये तो इस प्रकार समझ सकते है मान लीजिये की एक दुकानदार है जिसने की अभी हाल ही में एक electronics का showroom की शुरुआत की है।

उस दुकानदार को शोरूम खोले अभी कुछ ही समय हुआ है और ऐसे में तत्काल, ग्राहकों को मिलना असंभव सा है और ऐसा तभी तक होता है जब तक उस Business की awareness (सचेतता) स्थानीय लोगो में न फैले और business के साथ स्थानीय लोगो का connection बनाने को ही Technical भाषा में SEO करना कहते है।

और आसान भाषा में किसी भी बिज़नेस का उसके audience या फिर संभावित ग्राहकों के साथ connection बनाना ही Technical भाषा में SEO कहा जाता है।

अगर SEO को और भी आसान भाषा में समझा जाये तो इस प्रकार समझ सकते है मान लीजिये की एक दुकानदार है जिसने की अभी हाल ही में एक electronics का showroom खोला है।

उस दुकानदार को शोरूम खोले अभी कुछ ही समय हुआ है और ऐसे में तत्काल, ग्राहकों को मिलना असंभव सा है और ऐसा तभी तक ही होता है जब तक उस Business की awareness (सचेतता) स्थानीय लोगो में न फैले और business के साथ स्थानीय लोगो का connection बनाने को ही Technical भाषा में SEO करना कहते है।

और आसान भाषा में किसी भी बिज़नेस का उसके audience या फिर संभावित ग्राहकों के साथ connection बनाना ही Technical भाषा में SEO कहा जाता है।

SEO कैसे काम करता है? How SEO works?

What is SEO in hindi? SEO क्या है यह जानने के बाद अब हम जानेंगे की SEO एक website या फिर Blog के लिए किस तरह से काम करता है? SEO किस तरीके से किसी blog के पोस्ट को google में सबसे ऊपर दिखाता है?

हमें उम्मीद है की आप भली भाति जान गए होंगे की What is SEO in hindi और SEO कैसे किया जाता है?

What is SEO in hindi
What is SEO in hindi

दरअसल SEO का काम लोगो के Google पर खोजे जाने वाले Keyword का किसी blog post के साथ एक connection बनाना है ताकि जब कोई Google पर इस keyword को लिखकर Search करें तब Google उस user को वही Blog सबसे ऊपर दिखाएं जिस Blog पर SEO में काम किया गया है।

SEO का काम Blog के पेज पर जितने प्रकार के content होते है उन सब पर SEO किया जाता है जैसे की text, Image, Video, इत्यादि बिना SEO के लिखा गया post पर Organic Traffic आ ही नहीं सकता। इसलिए आपको Blog Post लिखते समय SEO का खास ख्याल रखना चाहिए।

अगर आप अपने ब्लॉग को income का जरिया बनाना चाहते है तो आप ये मत देखिये की आप को आप को अपने choice पर ही Blog Post लिखना है बल्कि ये देखिये की Google पर लोग किस Topic पर कितना Search किया जा रहा है और क्या Search किया जा रहा है।

Blogger इसी keyword को target कर अपने blog में article लिखते है और जब ये keyword कोई भी Google में Search करता है तब उसी keyword अपर लिखा गया post उसी यूजर (Search करने वाले) Google दिखाता है। What is SEO in hindi

SEO किसी पोस्ट को Google या फिर किसी भी Search Engine में Top पर दिखाने का काम करता है।

SEO में काम क्या करना पड़ता है?

SEO क्या है और यह कैसे काम करता है ये सब जानने के बाद यह भी जानने की जरुरत है की SEO में क्या करना पड़ता है। तो चलिए जानते है की SEO में क्या करना पड़ता है?

SEO का काम पेज पर बनाये गए हर एक Content पर चाहे वो text, हो कोई heading हो या फिर कोई image या फिर कोई वीडियो हो उसको आपको अपने ख़ास keyword से जोड़ना होता है।

जिस Keyword को target कर आप blog लिख रहे है। इसको अच्छी तरह से समझने के लिए हम एक example लेते है।

मान लेते है की हम एक blog के किसी पोस्ट में एक image डाल रहे है। तो हम image की detail कुछ इस तरह से update करेंगे जैसे की:-

  • Image का Tittle हमारा keyword हो सकता है।
  • Image का ALT का नाम भी हमारा Keyword हो सकता है।
  • Image की description भी हमारा Keyword हो सकता है।

इसी तरह से आपको Blog के सभी content का SEO जरूर करना चाहिए। SEO करने से आपके Blog को देखने वाले visitors से connect करने में आसानी होती है।

SEO कितने प्रकार का होता है? Seo Types

SEO तीन प्रकार का होता है:-

On Page SEO

What is SEO in hindi? SEO क्या है और कैसे काम करता है ये सब जानने के बाद अब हम जानेंगे की SEO कितने प्रकार का होता है। SEO को पूरी तरह से समझने के लिए यह जानना भी बहुत जरुरी है।

On Page SEO से मतलब उन सभी कामो से है जो आप अपने blog या फिर website को किसी ख़ास keyword पर Rank करवाने के लिए करते है। इस प्रकार का SEO करने के लिए आपको अपने Blog या फिर वेबसाइट में admin login करना होता है।

On Page SEO में आपको आपके Blog Post के content का SEO करना पड़ता है। आपको, अपने Blog post के Content को Search engine के अनुसार ढालना पड़ता है जिससे की Google जो की एक Search Engine का काम करता है, आपके Post को आसानी से बड़े ही जल्दी और कम से कम समय में Index कर ले और Google में पहले Page पर सबसे ऊपर (TOP) पर दिखाए।

On Page SEO में आपको अपने ब्लॉग (Blog) के अंदर जो Post लिखते है उस post को Optimize करना पड़ता है। हम इसको निम्न प्रकार से समझते है। हम नीचे कुछ points बताने जा रहे है कृपया इसे ध्यान से पढ़े:-

यहाँ हमने सभी महत्वपूर्ण बिंदु दिए है जो आपको On-Page SEO Checklist में काफी मददगार साबित होंगे:-

1. Website या फिर Blog की page Speed अधिक से अधिक रखें।

आपके blog की ranking में आपके blog या फिर website की loading speed बहुत हद तक मायने रखती है। आपके Blog की loading speed जितनी अधिक होगी उतना ही ज्यादा chances होंगे की आपका blog जल्दी rank करें।

आमतौर पर अगर आपके blog की page speed 1 से 3 seconds के बीच है तो या स्पीड आपके blog के लिए सही है।

वही अगर कोई यूजर आपके blog पर आता है और आपके blog की speed कम होने के कारण पेज जल्दी नहीं खुला तो वह user आपके Blog को छोड़ कर दूसरे blog पर चला जायेगा ऐसे में एक visitor तो गया ही गया लेकिन ये एक Red Signal बन गया है जो की सीधे Google को जाता है जिससे आपके blog की ranking Down होती है।

इसलिए आपकी Page speed अच्छी रहे मैं आपको कुछ points बता रहा हूँ जिससे आपको पेज speed बेहतर रखने में मदद मिलेगी।

  • Blog Post में इस्तेमाल किये गए image का साइज कम से कम रखे।
  • Image का size कम से कम होना चाहिए जिससे की image जल्दी से लोड हो सके। अगर आपका blog WordPress में है तो इसके लिए आप किसी भी image optimizer Plugin का इस्तेमाल कर सकते है।
  • अगर संभव हो तो Image को compress का file का size और भी कम कर सकते है।
  • अपने Blog में एक simple और light और fast load होने वाली WordPress theme ही install करें।
  • अपने ब्लॉग में जरूरत से ज्यादा Plugins install न करें।
  • अपने ब्लॉग में केवल एक primary wordpress theme जरूर installed रखें जो की urgency के समय काम आती है।
  • अपने ब्लॉग में कोई भी inactive Plugin न रखें इसका आपके Blog की speed पर negative असर पड़ता है।
  • अपने Post या फिर pages को delete करने के साथ उसे permanently स्थाई रूप से समाप्त कर दें।
  • जिस इमेज का इस्तेमाल न हो उसे अपने ब्लॉग में न रखें।
  • अपने Blog में W3 Total Cache Plugin से साथ साथ WP super cache plugin का इस्तेमाल करना न भूलें।

2. Post का Tittle Tag कैसा होना चाहिए?

आपको अपने ब्लॉग के post का tittle आपको कुछ ऐसा रखना चाहिए जिससे की visitor जैसे इस tittle को देखे उसे आपके यह tittle आकर्षित लगे मतलब आपके tittle catchy हो attract करने वाला हो। क्योंकि इससे आपका CTR भी बढ़ेगा जो एक अच्छा SIGNAL है।

3. Post का URL किस तरह का बनाएं?

दोस्तों ध्यान दें कि आपका blog पोस्ट अच्छे से rank कर सके इसके लिए आपके post url में हो सके तो आपके पोस्ट के keyword जिस पर आप यह Post लिख रहे है उसे जरूर शामिल जरूर करना चाहिए। और post का url छोटे से छोटे ही रखना चाहिए।

4. Post में internal link का इस्तेमाल करें।

अगर आप अपने पोस्ट कोई जल्दी से रैंक करना चाहते है तो अपने post में Internal link का जरूर इस्तेमाल करें। अपने post में Internal link का इस्तेमाल आपको जल्दी Ranking दिला सकता है।

5. Post में ALT टैग लगाना न भूलें।

अपने Post को कम से कम समय में Rank करवाने के लिए image के साथ ALT टैग का इस्तेमाल करना न भूलें। ये ALT टैग Google ogle को बताता है की आपका यह इमेज किस event को बताना चाहता है की image में क्या है? साथ ही साथ आपके visitors को भी बताता है की यह image अपने किस लिए use किया है।

कभी कभी अच्छा network न होने पर blog अच्छी तरह से load नहीं हो पाता और आपके image की जगह यह ALT TAG दिखाई देता है जिससे VISITOR को आपके image के बारे कुछ आईडिया लग जाता है।

6 . Content , Heading & Keyword

सब कुछ जानने के बाद अब बारी आती है Content की जैसा की आप जानते है की किसी भी ब्लॉगर के लिए उसका Content ही king होता है। “Content is king” तो आपको अपने content पर अधिक ध्यान देना होगा। आपको अपने blog post को लिखते समय काफी सावधानिया बरतनी होंगी जिनको में नीचे बता रहा हूँ।

  • अपने Blog Post के tittle में अपना keyword जरूर लिखें।
  • और अपने focus keyword से मिलते जुलते सभी keywords का अपने content के अंदर इस्तेमाल जरूर करें इससे आप के blog के Ranking के chances बढ़ जाते है।
  • अपने पैराग्राफ में keyword का इस्तेमाल जरूर करें लेकिन Keyword-stuffing से बचें। ऐसा साबित होने पर Google आपके blog की ranking को Decrease कर सकता है।
  • कृपया अपने पैराग्राफ को बड़ा न होने दें इसे छोटा रखें क्योंकि visitor बड़े paragraph नहीं पढ़ना चाहता है।
  • हो सके तो अपने पैराग्राफ में कुछ words को बोल्ड रखें।
  • अपने post में grammar की गलती न करें। अगर आप blog post को English में लिखते हो तो ऐसे में आप Grammarly नाम का ये chrome extension का इस्तेमाल कर सकते है।
  • अपने Text में Heading का प्रयोग जरूर करें यह यूजर/आपके ब्लॉग को पढ़ने वालो के लिए तो friendly होता ही है साथ ही साथ Google को आपके post के content को समझने आसान भी बनाता है।

Off Page SEO

Off page SEO क्या है ?

Off Page SEO में वह सभी काम आतें है जो हम सीधे अपने Blog या फिर website पर नहीं करते है बल्कि अपने Blog या फिर website के बजाय किन्ही दूसरे social Media पर करते है जैसे की Facebook, Twitter या फिर linkdedin जैसी site पर। नीचे कुछ महत्वपूर्ण Social Sites के नाम दिए जा रहे है।

अगर हम 100 बात की 1 बात कहें तो ऐसे कह सकते है। किसी दूसरी site से अपने blog या फिर website पर inter linking करना (एक लिंक बनाना जिस पर click करते ही click करने वाला हमारी site या फिर blog पर आ जायें ) ही Off Page SEO कहते है।

आपके दिमाग में यह प्रश्न जरूर उठ रहा होगा की इन्हीं Social Media पेज से ही क्यों ? किन्ही और sites से क्यों नहीं? उत्तर है की Domain authority और page authority के चलते। किसी भी Social media की popularity जितनी जयादा होगी उस Social media की page के authority उतनी ही जयादा होगी और इसी कारण facebook जैसी site पर कई लोग आते है।

Off Page SEO के तहत अपनी साइट या फिर ब्लॉग का किन्ही दूसरी बड़ी sites से सम्बन्ध दिखाया जाता है जिससे Google को हमारी website या फिर Blog को Google search Result Page (SERP) में दिखा सके। जिसे, दूसरे शब्दों में Backlink कहा जाता है।

3. Technical SEO

Technical SEO क्या होता है ?

कुछ लोग यह जानते है की SEO दो प्रकार का ही होता हैं On Page SEO और Off Page SEO लेकिन इसके अलावा एक तीसरा SEO भी होता है जिसे हम Technical SEO कहते है।

Technical SEO में वो सभी काम आतें है जिसमें एक Website या फिर Blog की Technical Requirement को देखा जाता है और Blog या फिर website को technically तैयार किया जाता है की Google उस post को आसानी से index कर सके।

Technical SEO कैसे करते है?

किसी blog या फिर website को technical तैयार करना ही Technical SEO कहते है। किसी भी blog या फिर website के technical SEO में नीचे बताया गया है :-

1. Google को Domain Name बताना

वैसे तो यह एक सामान्य सी बात है की अपने blog को गूगल में किस नाम से जानते है लेकिन Google की नजरो में आपके website का address, www भी हो सकता है और बिना www के भी हो सकता है। और ये फैसला आपको भी करना है की आपके ब्लॉग का address www के साथ रहेगा या फिर बिना www के रहेगा।

2. Robot Text file को Optimize करना

Robot text file क्या है ? Robot text file एक ऐसी file है जो Google या किसी भी search engine को यह बताती है की उस blog या फिर website के किस page को index करना है और किस page को index नहीं करना है। इसलिए इस robot text file को optimize जरूर रखें। किसी blogger को यह जरूर पता होना चाहिए।

3. Blog का Navigation या मेन्यू look सही होना चाहिए

आपको अपने Blog या फिर website का menu बिलकुल clear रखना चाहिए। आपके blog पर दिखने वाले menu में किसी भी प्रकार का confusion न हो। ध्यान रखें की यह मेनू केवल और केवल Google के लिए ही नहीं है बल्कि ये उस user के लिए भी आवश्यक होता है जो आपके website या फिर Blog पर आता है।

4. Website या फिर Blog में SSL Certificate install होना चाहिए

अगर आपके Blog या फिर website में (SSL Certificate) सर्टिफीकेट Install नहीं है तो आपको तुरंत इसे install करना चाहिए क्योंकि Google किसी भी ऐसे Blog या फिर website को Index नहीं करता है जिस पर SSL install न हो। क्योंकि या बिना SSL के कोई भी SITE Secure नहीं होती।

5. आपका Blog या वेबसाइट Mobile friendly होना चाहिए

अगर आपका blog या फिर website मोबाइल पर अच्छे से नहीं खुलता है मतलब की किसी मोबाइल पर आपके ब्लॉग के page के content सही ढंग से नहीं दिखते तो ऐसे में आपका page Mobile friendly नहीं है और Google ऐसी किसी भी blog या फिर website को Google AdSense के लिए approve नहीं करता है। अगर आप का blog WordPress में है तो आप light wordpress theme ही इस्तेमाल करें।

5. आपके blog का URL का Structure छोटा और उसमें keyword होना चाहिए

क्योंकि आप अपने ब्लॉग को Google AdSense के लिए तैयार करना चाहते है तो आपके हर post का url छोटा और उस url में आपके पोस्ट का target Keyword भी होना चाहिए जिससे आपके post का ranking अच्छी हो।

5. आपके blog या फिर Website का loading speed अच्छा होना चाहिए

अगर आप अपने Blog या फिर website को Google Adsense के लिए बनाना चाहते है या फिर किसी दूसरे icome के लिए तो Blog या फिर website की speed भी अच्छी होनी चाहिए मतलब की जब कोई user आपके blog पर आये तो आपका webpage कम से कम समय में load हो सके जिससे यूजर का experience अच्छा हो।

6. Google Search Console में XML SiteMap Submit करना

किसी Blog या फिर website का एक Structure जरूर होता है हम Sitemap कहते है जिससे Google को ये पता होता है की आपके Blog या फिर website में कौन से पेज है।

7. अपने Blog या फिर वेबसाइट में 404 पेज redirection लगाना

जी हाँ, आपको अपने blog या फिर website में broken लिंक के लिए एक 404 Redirection जरूर लगाना चाहिए जिससे की अगर आपके blog या फिर website पर कोई link broken है और ऐसे में अगर कोई visitor उस लिंक पर click करता है तो उसे एक 404 error नहीं दिखाई देगा बल्कि redirection में अपने जो link का address दिया होगा visitor उसी पेज पर पहुंच जायेगा जिससे आपके उसे यूजर को 404 error नहीं मिलेगा।

8. अपने Blog या फिर वेबसाइट में AMP Technique का इस्तेमाल करना

आपको अपने Blog या फिर website में AMP Technique का इस्तेमाल करना चाहिए इससे होगा ये की अगर आप अपने blog में AMP Technique का इस्तेमाल कर रहे है तो आपका Blog बेहद कम समय में mobile पर खुल जायेगा जिससे user experience काफी अच्छा होगा।

SEO को पूरा करने के लिए किन tools का प्रयोग करें?

किसी भी Blog या फिर website को SEO optimized करने के लिए हम नीचे दी हुई site का इस्तेमाल जरूर करते है हमें अपने website को Google पर indexing के लिए submit करना होता हैं जिससे की हमारा blog या फिर website google में rank हो सके।

अगर कोई भी व्यक्ति Google पर हमारे blog को ढूंढे तो Google उनको हमारे blog दिखा सके।

कुछ महत्वपूर्ण शब्दावली

SEO Search Engine Optimization

SERP Search Engine Result Page

DA Domain Authority

PA Page Authority

LCP Largest Contentful Paint

URL Universal Resource Locator

Traffic Visits to a website

Your FAQs

  • क्या किसी भी POST/PAGE का SEO फिर से करना पड़ता है ?

    किसी भी page या फिर पोस्ट का SEO किसी भी एक निश्चित समय तक ही सिमित रहता है SEO वास्तव में एक चॉयस का जैसे ही काम करता है किसी भी समय अंतराल में जब पसंद बदल जाती है तब एक नई पसंद जगह ले लेती है फिर कंटेंट को नए नजरिये से SET किया जाता है जिससे की जब किसी नए पसंद या फिर नए नजरिये वाला वयक्ति उसी कंटेंट को Google पर ढूंढे तो उसे उसे वही content दिखे जिसे वो ढूंढ रहा है।

  • क्या image का भी SEO होता है ?

    जी हाँ, Web page पर दिखने वाले सभी प्रकार के content का SEO होता हैं चाहे वह Paragraph हो , image हो या फिर audio हो या फिर video हो सभी तरह के content का SEO होता है।

  • आखिर SEO का उद्देश्य होता क्या है ?

    किसी भी content के लिए SEO का उद्देश्य इतना ही है की वह Content किसी भी Search Engine मे ढूंढने पर सबसे ऊपर दिखे और content choice के हिसाब से ही दिखे मतलब की अगर कोई Google पर best English Speaking book ढूंढ रहा है तो उसे best English Speaking book की ही list ही दिखाई दे न की एक Best Quality Furniture की। एक अच्छे SEO की सहायता से Google जैसे search engine आसानी से किसी भी प्राडक्ट को Rank कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.